पोरट्रेट बिल्डिंग सिस्टम

पोरट्रेट बिल्डिंग सिस्टम (पी.बी.एस.) की मदद से चेहरे के विभिन्न हिस्से जैसे-सिर,आंँख,नाक,मुहँ,ठोड़ी आदि को डिजिटाइजड् पोरट्रेट डारेक्टरी से चेहरे के इन विभिन्न हिस्सों को निकालकर एवं जोड़कर साक्षी के द्वारा दिए गए विवरण के अनुसार अपराधी का चित्र तैयार किया जाता है ।

पोरट्रेट बिल्डिंग सिस्टम (पी.बी.एस.) का प्रयोग करके राष्ट्रीय अपराध रिकार्ड ब्यूरो ने राज्यों/संघ शासित क्षेत्रों की पुलिस, केन्द्रीय अन्वेषण ब्यूरो और अन्य पुलिस एजेन्सियों के साक्षी के द्वारा दिए गए अपराधी के विवरण के आधार पर चित्र तैयार करके मदद की ।

इस ऐपल्किेशन का डिजाइन विन्डोज 9X/Xp/NT/2K ओपरेटिंग सिस्टम पर चलाने के लिए तैयार किया गया है ।

मुख्य विशेषताएं

1.पोरट्रेट बिल्डिंग सिस्टम के द्वारा चेहरे के विभिन्न हिस्सों का मिलान करके सुधार किया जा सकता है ।

2.100 चेहरों के डाटा का प्रयोग करके प्रयोर्गकत्ता 1000,00,00 चेहरों के चित्र तैयार कर सकता है।

3.यह नवीनतम प्रोसेसिंग तकनीक जैसे एन्हेनस, सट्रेच, मोरफ, इन्टेग्रेट और रोटेट का प्रयोग करता है ।

4.'ब्लरिंग' के द्वारा तीखे किनारों को हटाकर पेन्सिल स्केच तैयार किया जा सकता जोकि मैनुअल ऐडिटंग के लिए उपयोगी होता है ।

5.डिजिटल इमेज 'Matrix of Pixels' होता है जोकि रंगीन या 'ग्रे' स्तर को दिखाता हे । Pixels की रिलेटिव वेल्यु बदलकर इमेज को भी बदला जा सकता है ।

6.Horizontal Mirroring की मदद से बायें आधे चेहरे को दायें आधे चेहरे से तैयार किया जा सकता है ।

7.एप्लीकेशन में निम्नलिखित टूल उपलब्ध है:-

  • चेन्ज शेप
  • मिरंरींग
  • क्ररोप रिसाइज और पेस्ट
  • टेक्सट टूल
  • लाइट ब्रश टूल
  • डारक ब्रश टूल
  • टिल्ट इमेज टूल
  • रोटेट इमेज टूल

स्थिति

पोरट्रेट बिल्डिंग सिस्टम(सफेद और काला) का प्रयोग सभी राज्य अपराध ब्यूरो और जिला अपराध ब्यूरो में शुरू किया गया है । रंगीन पोरट्रेट बिल्डिंग सिस्टम साफ्टवेयर का विकास किया जा रहा है और शीघ्र जारी किया जाएगा ।

सफलता के किस्से

  • 2008 तक राष्ट्रीय अपराध रिकार्ड ब्यूरो ने 3079 पोरट्रेट तैयार कर लिए थे ।
  • सबसे पहले राजीव गांधी हत्या मामले में अपराधी का चित्र तैयार करने के प्रभावी तकनीक से पोरट्रेट बिल्डिंग सिस्टम का प्रयोग किया गया था ।
  • बहादुरगढ़ बच्चो के मामले में भी अपराधी का चित्र इसी तकनीक द्वारा तैयार किया गया है । इस मामले में अपराधी 5-9 वर्ष की नाबालिग छोटी उम्र की लड़कियों के साथ यौन संबंध स्थापित करके उन्हें मार डालता था ।
  • सात वर्ष पहले अपहृत अभिषेक वर्मा को बचपन की फोटो से तैयार किए गए चित्र के आधार पर ढूँढ़ा जा सका ।
  • मुम्बई और दिल्ली बम धमाकों में लिप्त अभियुक्तों का फोटोग्राफ भी पोरट्रेट बिल्डिंग प्रणाली से तैयार किया था ।
  • गोविन्दपुरी बस बम धमाकों के मामले में इसी प्रणाली द्वारा चित्र तैयार किया गया एवं परिणामस्वरूप मौहम्मद रफिक शाह को श्रीनगर से पकड़ लिया था ।
  • महत्वपूर्ण मामलों में दिल्ली पुलिस के जांच अधिकारी और केन्द्रीय अन्वेषन ब्यूरो के अधिकारी राष्ट्रीय अपराध रिकार्ड ब्यूरो के पोरट्रेट बिल्डिंग सिस्टम से चित्र तैयार करवाने के लिए कार्यालय में आते रहते हैं ।

भविष्य के लक्ष्य

रंगीन पोरट्रेट बिल्डिंग सिस्टम अब विकास एवं परीक्षण में हैं पोरट्रेट बिल्डिंग का बेटा वर्जन 1 राष्ट्रीय अपराध रिकार्ड ब्यूरो को परीक्षण के लिए जारी कर दिया गया है । इसके अद्यतन वर्जन में नवीनतम विशेषताएं और चेहरे की डायेरक्टरी के लिए बहुत बड़े पैमाने पर नमूने होंगें ।


Updated On: 07/04/2019
Page View Counter : 593